दलित छात्रों के छात्रावास में एनजीओ का कब्जा

कानपुर देहात : मूसानगर कस्बे में अनुसूचित जाति (Scheduled Caste) के छात्रों के लिए बने छात्रावास में एक एनजीओ ने डेरा जमा रख्खा है, जिसके कारण दूर दराज  के क्षेत्रों से आने वाले दलित समुजदाय के छात्रों को मजबूरन किराये पर रहना पड़ रहा हैं. ताज्जूब ये है की समाज कल्याण विभाग इस बात अनजान है.

इस छात्रावास का निर्माण वर्ष 1988 में समाज कल्याण विभाग (Social Welfare Department)  ने अनुसूचित जाति वर्ग के छात्रों के लिए कालेज की भूमि पर कराया था. लेकिन दो दशक से ज्यादा समय के बाद भी यह छात्रावास छात्रों के लिए पुरी तरह उपलब्ध नहीं कराया जा सका है. हालांकि शुरुआती दिनों में कुछ छात्र यहां जरुर रहे लेकिन बाद में सुविधाओं के अभाव में वे चले गए. 

कुछ दिन इस छात्रावास भवन का प्रयोग रेशम विभाग ने किया, लेकिन अब अर्पित ग्रामीण संस्थान नामक स्वयं सेवी संस्था का कब्जा है. कुछ समय पहले दुग्ध विकास विभाग के सचिव ने नाराजगी जता विभाग को तत्काल छात्रावास शुरू करने के निर्देश दिए थे, लेकिन स्थिति जस की तस है. समाज कल्याण अधिकारी ने बताया कि छात्रावास के बाबत उन्हे जानकारी नहीं है, मामले की जांच कराकर छात्रावास खाली कराया जाएगा. 

आसपास के गांवों के दलित वर्ग छात्र काफी संख्या में स्थानीय सीपीकेयू इंटर कालेज में पढ़ने के लिए आते हैं, अगर यह छात्रावास इन छात्रों को मिल जाय तो उन्हे किराये पर रहने को मजबूर नहीं होना पड़ेगा. 

Leave a Reply

error: Content is protected !! Plz Contact us 9560775355