एनजीओ इस्कॉन फूड रिलीफ फाऊंडेशन के कर्मचारी संस्था खिलाफ के केस दर्ज करवाने का मन बना रहे हैं

एनजीओ इस्कॉन फूड रिलीफ फाऊंडेशन के कुरुक्षेत्र  के मिर्जापुर मे चल रही मिड-डे मील परियोजना के कर्मचारी संस्था खिलाफ के केस दर्ज करवाने का मन बना रहे हैं । केस दर्ज करवाने कर्मचारियों  के मुताबिक पुरुषों को मात्र 5,300 से 5,500 रुपए महीना तथा महिलाओं को 3,500 से 3,800 रुपए महीना वेतन दिया जा रहा है। हर वर्ष अगस्त में नियमों के अनुसार वेतन बढ़ाना होता है मगर इस वर्ष अभी तक कर्मचारियों को वेतन नहीं बढ़ाया गया। उन्होंने अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए कहा कि इस्कॉन मिड-डे मील कम्पनी के अधिकारियों द्वारा पी.एफ. भी नहीं दिया जा रहा। 

 
साथ हीं उनका कहना है कि कम्पनी का ठेकेदार कम्पनियों के जानबूझकर नाम बदल रहा है ताकि कर्मचारियों को पी.एफ. न देना पड़े। कर्मचारियों ने बताया कि इस्कॉन मिड-डे मील अधिकारी सरकारी निर्देशों के अनुसार बच्चों के लिए समुचित आहार मुहैया नहीं करवा रहे, बल्कि मिड-डे मील में कोताही बरत रहे हैं।
 
संस्था के बलवान सिंह के अनुसार कर्मचारी साल में 222 दिन काम करते हैं तथा उन्हें 7,000 रुपए के करीब तनख्वाह दी जाती है जिसमें से 700 रुपए पी.एफ. काटा जाता है तथा इतना ही पी.एफ. कम्पनी द्वारा दिया जाता है। उन्होंने कहा कि कर्मचारी 8 घंटे की बजाय 5-6 घंटे ही काम करते हैं। 

 

Leave a Reply

error: Content is protected !! Plz Contact us 9560775355