images/New TRans Logo.png

एनजीओ ग्रीनपीस के खिलाफ क्रॉप केयर फेडरेशन ऑफ इंडिया ने दर्ज केस दायर किया

क्रॉप केयर फेडरेशन ऑफ इंडिया (सीसीएफआई) ने एनजीओ ग्रीनपीस के खिलाफ बांद्रा के मेट्रोपोलिटन मैजिस्ट्रेट कोर्ट आपराधिक केस दायर किया है। केस में भारतीय चाय में कीटनाशक पाए गए रिपोर्ट के  आरोप को झूठा साबित करने की कोशिश की गई है ।

पिछले दिनों एक एनजीओ ग्रीनपीस ने अपनी रिपोर्ट में आरोप लगाया था कि भारत में चाय के 11 बड़े ब्रैंड हैं और इनमें से 8 में कीटनाशक पाए गए हैं, जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं। ग्रीनपीस ने जो 49 नमूनों का परीक्षण किया था, जिनमें से 46 में कथित रूप से एक या एक से अधिक कीटनाशक पाए गए। इस रिपोर्ट के बाद आम लोगों में चाय पीने से स्वास्थ्य नुकसान होने का अंदेशा हो गया ।

एनजीओ के अधिकारियों को दो साल की कैद और जुर्माना भरना पड़ सकता है अगर फेडरेशन के आरोप सही साबित हुए तो। भारतीय चाय उद्योग की छवि खराब करने के कथित आरोप में ग्रीनपीस के विरुद्ध सरकार को कार्रवाई करने के लिए भी कहा है। व्यवसाइयों ने इससे चाय की खेती करने वालों को और व्यवसाय से जुड़े लोगों को काफी नुकसान होने की संभावना जताया ।