विविध

  • पंचायती राज चुनाव सुधार हेतु महिला जनप्रतिनिधियों की मांग
  • IL&FS Education wins big at the 53rd Skoch awards
  • बेदाग हुए वैज्ञानिक नंबी नारायणन, अधिकारी ने कहा था, अगर आप बेदाग निकले तो मुझे चप्पल से पीट सकते हैं।
  • जालंधर इंडस्ट्री डिपार्टमेंट एनजीओ के पंजीकरण के लिए कैंप लगाएगा
  • दिल्ली में स्थित नारी निकेतन व महिला आश्रम में अव्यवस्था का बोलबाला, मंत्री ने महिला आश्रम की कल्याण अधिकारी को निलंबित किया

मिड डे मील में छिपकली के कारण छह से अधिक बच्चों की तबियत बिगड़ी।

प्राइमरी स्कूल में मिड डे मील में छिपकली के कारण छह से अधिक बच्चोकी तबियत बिगड़ी

नूंह : मिड-डे मील योजना के तहत स्कूली बच्चों का पौष्टिक आहार देने की सरकार की योजना बच्चों के स्वास्थ्य के लिए घातक बन रही है। मंगलवार को उजीना के गुंडवास गांव स्थित प्राइमरी स्कूल में बंटने वाली मिड डे मील में छिपकली के कारण छह से अधिक बच्चों की तबियत बिगड़ गई। बच्चों की तबियत खराब होने पर उन्हें नजदीक के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र उजीना ले जाया गया परंतु यहां प्राथमिक चिकित्सा के अभाव के कारण उन्हें नूंह सीएचसी ले जाया गया। लेकिन वहां भी स्थिति नहीं संभलने पर बच्चों को मेडिकल कालेज नल्हड़ में दाखिल कराया गया है। इलाज के लिए दाखिल कराए गए बच्चों में से एक लड़की की स्थिति गंभीर बताई जाती है।

 

           

अभिभावकों में इस घटना को लेकर गहरा रोष है। ग्रामीणों का कहना है कि खाना खाने के आधा घंटा बाद दस से अधिक बच्चों को चक्कर आने लगे तथा उनके सीने में जलन होने लगी। भोजन चेक किया गया तो उसमें छिपकली निकली। स्कूल के पचास से अधिक बच्चों ने खाया है। अधिकारियों ने घटना की गंभीरता को देखते हुए कहा कि मामले की जांच कर दोषी के खिलाफ कार्रवाई होगी।

 

 

 

 

 

 

Six children got ill due to poisonous Mid Day Meal distributed in Nuh Ujina Primary School.

Related Article

सुर्खियां

Facebook पर Like करें

Go to top