विविध

  • पंचायती राज चुनाव सुधार हेतु महिला जनप्रतिनिधियों की मांग
  • IL&FS Education wins big at the 53rd Skoch awards
  • बेदाग हुए वैज्ञानिक नंबी नारायणन, अधिकारी ने कहा था, अगर आप बेदाग निकले तो मुझे चप्पल से पीट सकते हैं।
  • जालंधर इंडस्ट्री डिपार्टमेंट एनजीओ के पंजीकरण के लिए कैंप लगाएगा
  • दिल्ली में स्थित नारी निकेतन व महिला आश्रम में अव्यवस्था का बोलबाला, मंत्री ने महिला आश्रम की कल्याण अधिकारी को निलंबित किया

मिड-डे मील योजना के लिए 12 करोड़ का प्रस्ताव भेजा।

मिड-डे मील योजना के लिए 12 करोड़ का प्रस्ताव भेजा
सहारनपुर - स्कूलों में पढ़ रहे करीब डेढ़ लाख विद्यार्थियों को मिड- डे मील योजना का लाभ देने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग ने वर्ष 2014-15 के लिए शासन को 12 करोड़ रुपये की धनराशि का प्रस्ताव भेजा गया है। विभाग की ओर से शासन को भेजे प्रस्ताव में बच्चों को मिड-डे मील के साथ कनवर्जन कास्ट, रसोइयों का मानदेय आदि भी शामिल है। जिले में 1355 प्राइमरी और 578 जूनियर हाईस्कूल संचालित हैं। जिनमें प्रतिवर्ष करीब डेढ़ लाख छात्र-छात्राओं को मिड-डे मील दिया जाता है।

उधर, विभागीय सूत्रों का कहना है कि मिड-डे मील योजना के लिए 2013-14 में भी लगभग इतनी ही धनराशि स्वीकृत की गई थी। कनवर्जन कास्ट नहीं मिलने के कारण कई स्कूलों में महीनों तक मध्यान भोजन नहीं बन पाया, रसोइयों का मानदेय न मिलने के कारण उन्होंने भी कई बार भोजन बनाने से हाथ खड़े कर चुकी है। जिसके कारण शिक्षा सत्र में आधे से ज्यादा समय बच्चों तक मिड-डे मील नहीं पहुंच पाया। इधर अधिकारियों का कहना है कि इस बार योजना में सुधार किया जाएगा।

Related Article

सुर्खियां

Facebook पर Like करें

Go to top