images/New TRans Logo.png

भ्रूण हत्या पर अंकुश के लिए गुप्त अभियान, एनजीओ कर्मी भी होंगे सदस्य

भ्रूण हत्या पर अंकुश के लिए गुप्त अभियान, एनजीओ कर्मी भी होंगे सदस्य

जमशेदपुर : जिले में कन्या भ्रूण हत्या पर लगाम लगाने के लिए सिविल सर्जन कार्यालय में हुई. इस बैठक में तीन टीमें गठित करने का निर्णय लिया गया.  हर टीम में तीन-तीन सदस्य होंगे. इसमें चिकित्सक, वकील व एनजीओ कर्मचारियों भी शामिल होंगे. सिविल सर्जन डॉ. एलबीपी सिंह ने कहा कि सोमवार से यह टीम पूरे जिले में गुप्त सूचना के आधार पर अभियान चलाएगी. इस दौरान अगर अल्ट्रासाउंड केंद्रों पर कोई गड़बड़ी मिली तो तत्काल उसपर कार्रवाई की जाएगी.


लोगों को जागरुक करने के लिए कन्या भ्रूण हत्या के खिलाफ जागरूकता कार्यक्रम चलाया जाएगा. सिविल सर्जन डॉ. एलबीपी सिंह ने कहा कि जिले के सभी अल्ट्रासाउंड सेंटरों को निर्देश दिया गया है कि आइडी प्रूफ लेने के बाद ही गर्भवती का परीक्षण करें. ताकि इस आधार पर पता चल सके कि महिला ने बच्चे को जन्म दिया है या नहीं.

जिले में कुल 104 रजिस्ट्री अल्ट्रासाउंड सेंटर है. इन अल्ट्रासाउंड सेंटरों को हर 15 दिन का रिकार्ड जमा कराना होगा, और उसी आधार पर रिपोर्ट तैयार की जाएगी.