केजरीवाल और नारायण मूर्ति की मुलाकात, एनजीओ अक्षय पात्र के साथ मिलकर दिल्ली में मिड डे मील स्कीम लागू करने पर चर्चा

नकारात्मक कारणों से चर्चा में रहने के बाद आम आदमी पार्टी अब कुछ 'अच्छे' काम की तरफ लोगों का ध्यान लाने की कवायद कर रही है। इसी कड़ीं में चर्चा है कि केजरीवाल, इंफोसिस के संस्थापक एन. आर. नारायण मूर्ति को पार्टी से जोड़ना चाहते हैं। इन चर्चाओं को मूर्ति की मंगलवार को केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से मुलाकात की वजह से भी बल मिला है। दिल्ली सरकार के आधिकारिक बयान में कहा गया है कि तीनों लोगों ने सामाजिक महत्व के कई मुद्दों पर चर्चा की।

 नारायण मूर्ति ने एक अखबार को ईमेल से जानकारी दी है कि वो केजरीवाल और उनके सहयोगियों को गैर सरकारी संगठन अक्षय पात्र के बारे में बताने गए थे। अक्षय पात्र एक एनजीओ है, जो सरकारी स्कूलों में सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के मुताबिक मिड डे मील स्कीम लागू करवाने के लिए काम करता है। मूर्ति और उनकी पत्नी सुधा मूर्ति ने इस संगठन को खड़ा करने में मदद की है। एन. आर. नारायण मूर्ति अक्षय पात्र के साथ बतौर सलाहकार जुड़े हुए हैं और इंफोसिस फाउंडेशन इस संस्था का सबसे बड़ा दानदाता है, जिसकी सुधा मूर्ति चेयरपर्सन हैं। उपमुख्यमंत्री सिसोदिया के पास शिक्षा विभाग भी है और वह सरकारी स्कूलों में मिड-डे मील की क्वॉलिटी सुधारने को लेकर गंभीर होने की बात पर जोर देते रहे हैं।  

अक्षय पात्र के प्रवक्ता के अनुसार केजरीवाल बेंगलुरु में पिछले महीने उनके ऑफिस गए थे और वो दिल्ली सरकार के साथ मिलकर काम करना चाहते हैं। संस्था की योजना 2020 तक 50 लाख बच्चों को स्कीम में शामिल करने की है। इसलिए संस्था ज्यादा शहरों में विस्तार को लेकर उत्साहित है। 

Related Article

सुर्खियां

Facebook पर Like करें

Go to top