भारतीय रेलवे भी खिलाएगी बच्चों को मिड डे मील ।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री कार्यालय ने भारतीय रेलवे को मिड मील तैयार करने की योजना बनाने की बात कही है। सर्व शिक्षा अभियान के तहत बच्चों को मीड डे मील अब तक एनजीओ या स्कुल प्रशासन द्वारा हीं दिया जा रहा है। पीएमओ ने इसके लिए एक विशाल रसोई और आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने को कहा कि, ताकि गुणवत्ता वाल मिड डे मील तैयार किया जा सके। इसके लिए हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बजट में 13,215 करोड़ रूपए का प्रस्ताव रखा है।

 

दुनिया सबसे बड़ी भोजन योजना मिड डे मील के जरिए 12.65 लाख स्कूल के 12 करोड़ बच्चों को प्रतिदिन मुफ्त में भोजन दिया जाता है। मिड डे मील सरकार की योजनाओं में सबसे उपर है। सरकार चाहती है कि इस योजना को रेलवे से जोड़ दिया जाए। इसके लिए पीएमओ, रेलवे और मानव संसाधन विभाग योजना भी बना रहा है। सूत्रों के अनुसार जल्द ही दो मंत्रालयों की बैठक भी होने वाली है।

रेलवे का कहना है कि मिड मील की तैयारी से पहले यह पता लगाना बहुत जरूरी है कि रेलवे के किचन कब-कब खाली रहते हैं। वहीं इस योजना में एक समस्या यह भी आ रही है कि यह खाना रेलवे को काफी महंगा पड़ेगा। फिलहाल रेलवे के किचन में खाना नहीं बन रहा है। रेलवे पैक्ड फूड के जरिए ही यात्रियों को भोजन उपलब्ध करवा रही है। 

 

 

 

Related Article

सुर्खियां

Facebook पर Like करें

Go to top