ज़ाकिर नाइक के एनजीओ को मिले विदेशी चंदे की जांच होगी

गृह मंत्रालय ने विवादों में आए इस्लामिक उपदेशक ज़ाकिर नाइक के एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (आईआरएफ) को मिले चंदे के जांच का आदेश दे दिया है। रिपोर्ट के मुताबिक उसका एनजीओ गृह मंत्रालय की निगरानी में आ गया है कि उसने विदेशों से प्राप्त चंदे का उपयोग राजनीतिक गतिविधियों और लोगों को कट्टरपंथी विचारों के लिए प्रेरित करने के लिए किया।

जाकिर नाइक के संस्था को सरकारी निगरानी में आने का कारण यह खबर है कि उनके भाषण ने ही ढ़ाका कैफे के हमलावरों में से कुछ को प्रेरित किया था।  हांलांकि ज़ाकिर ने एक वीडियो शूट कर अपने ऊपर लगे आरोपों पर सफाई दी है। उन्होंने अपने ऊपर लग रहे आरोपों को निरधार बताते हुए कहा कि एक बांग्लादेशी अखबार ने बिना किसी सबूत के आतंकियों को मुझसे जोड़ दिया और भारतीय मीडिया ने भी बिना रिसर्च के मुझे जिम्मेदार ठहरा दिया। उसने कहा कि  मैं आतंकवाद फैला रहा हूं ये बातें गलत हैं।

अपने उपर कई देशों में लगे बैन को लेकर नाइक ने कहा कि केवल यूके में मुझे कुछ समय के लिए प्रतिबंध किया गया था। उन्होंने कहा कि मलेशिया ने तो करीब तीन साल पहले मुझे सर्वोच्च सम्मान दिया है और मेरी जानकारी में मुझे किसी भी देश में प्रतिबंध नहीं किया गया है। इन विवादों के बीच महाराष्ट्र सरकार भी उनके भाषणों की जांच का आदेश दे दिया है ताकि सच्चाई सामने लाई जा सके। 

Leave a Reply

error: Content is protected !! Plz Contact us 9560775355