योजना आयोग के कामकाज पर सवाल

नई दिल्ली। नई सरकार ने योजना आयोग की उपयोगिता पर सवाल खड़ा दिया है। भाजपा में पार्टी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने आयोग का नाम लिए बगैर कहा है कि संस्थान लोगों की भर्ती भर के लिए नहीं होता है। योजना आयोग ने 26 रुपये से ज्यादा कमानों वालों को गरीबी रेखा से ऊपर माना है। इसके बाद जनता भी इसके अस्तित्व पर सवाल उठा रही है।


हांलाकि योजना आयोग को खत्म करने की पुष्टि नहीं हुई है। लेकिन इसका पुनर्गठन जरुर हो सकता है। कांग्रेस के पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम की निजी राय है कि योजना आयोग बहुत बड़ा व अव्यवस्थित है।

भाजपा सरकार से पहले से यह बात उठा रही है। शुक्रवार को शाहनवाज ने कहा है कि संस्थान दो तरह के होते है,कुछ काम करने वाले औऱ दूसरे व्यवधान खड़ा करने वाले।हमेशा से योजना आयोग के कामकाज पर सवाल उठता रहा है।

Leave a Reply

error: Content is protected !! Plz Contact us 9560775355