विविध

  • बेदाग हुए वैज्ञानिक नंबी नारायणन, अधिकारी ने कहा था, अगर आप बेदाग निकले तो मुझे चप्पल से पीट सकते हैं।
  • जालंधर इंडस्ट्री डिपार्टमेंट एनजीओ के पंजीकरण के लिए कैंप लगाएगा
  • दिल्ली में स्थित नारी निकेतन व महिला आश्रम में अव्यवस्था का बोलबाला, मंत्री ने महिला आश्रम की कल्याण अधिकारी को निलंबित किया
  • एनजीओ पर शिकंजा कसने की तैयारी, गृह मंत्रालय दे सकता है आंतरिक जांच का आदेश
  • एनजीओ की फाइलें अंडर सेक्रेटरी के घर पर मिलीं

एनजीओ का संचालक निशक्तों को झांसा देकर हजारों रुपए ठगने के साथ-साथ उनके दस्तावेज लेकर फरार

एनजीओ का संचालक निशक्तों को प्रशिक्षण और तिपहिया वाहन दिलाने का झांसा देकर हजारों रुपए और दस्तावेज सहित फरार हो गया । यह घटना बांसवाड़ा शहर की है। डेढ़ माह पूर्व मोहन कॉलोनी स्थित एनजीओ द्वारा खोले गए प्रशिक्षण केन्द्र के कार्यालय को सीज कर दिया गया है । यह केन्द्र 20 मार्च को हीं समर्थ स्वरोजगार प्रशिक्षण देने के लिए खोला गया था।

एनजीओ के संचालक ने अपना परिचय सुभाष राठौड़, निवासी महू मध्यप्रदेश दिया और संगठन को नारायण सेवा संस्थान से संबद्ध बताया।  पीडि़तों के अनुसार एनजीओ संचालक ने निशक्तों को बेसिक कम्प्यूटर कोर्स, टीवी, फ्रिज, मोबाइल रिपेयरिंग, मोमबत्ती, अगरबत्ती निर्माण,  मसाला बनाने आदि का प्रशिक्षण के साथ हीं कृत्रिम अंग, बैसाखी, ईयर मशीन और तिपहिया वाहन देने के नाम पर उनसे संपर्क किया था।  संचालक ने पीडि़तों  से 500 से लेकर 14500 रुपए तक भी लिया । नौकरी देने की बात कहकर निशक्तों से शैक्षणिक दस्तावेज, बैंक खाते की पासबुक, एटीएम, स्टाम्प, वोटर आइडी आदि भी ले लिए। एनजीओ का संचालक फरार है और उसका मोबाइल नम्बर भी अब बंद आ रहा है।

Related Article

सुर्खियां

Facebook पर Like करें

adsense 9 4 2018

ADD YOUR NGO

in NGOs list 

  भारतीय एनजीओ की सूची 

Go to top