पहल

  • इंफोसिस फाउंडेशन देगा सोशल इनोवेशन अवार्ड्स
  • संयुक्त राष्ट्र में दिखाई जाएगी मानव तस्करी पर आधारित फिल्म 'लव सोनिया'
  • एनजीओ, ट्रस्ट और निजी संस्थानो के लिए निबंधन कार्यालय ने किया ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन और संशोधन करने की सुविधा की शुरुआत
  • एनजीओ को साथ मिलकर एसबीआई बैंक शुरु करेगी, SBI यूथ इंडिया फेलोशिप
  • करोड़ों का ऑफर छोड़, एनजीओ से मिले 2.04 करोड़ रुपए से डेढ़ साल पहले मुंबई में एक स्टार्टअप शुरू किया, इरादा अलीबाबा जैसा प्लैटफॉर्म बनाने का

दस लाख का अनुदान मिला मिथिला पत्रकार समूह को

सुलभ इंटरनेशल के संस्थापक डॉ. बिन्देश्वर पाठक ने मिथिला पत्रकार समूह  को दस लाख रूपए का आर्थिक अनुदान देने की घोषणा की है। यह दिल्ली में सक्रिय प्रवासी मैथिल पत्रकारों की नवसृजित संस्था है। समूह के सक्रिय पत्रकार संतोष ठाकुर के अनुसार इस अनुदान राशि का इस्तमाल मिथिला पत्रकार समूह को सुव्यवस्थित करने और समाजिक हित पर खर्च किया जाएगा। डॉ. पाठक मिथिला पत्रकार समूह की ओर से  दिल्ली के प्रेस कल्ब ऑफ इंडिया में आयोजित पहले सांस्कृतिक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद थे। सांस्कृतिक कार्यक्रम में मिथिला क्षेत्र के पत्रकारों के परिवार के बच्चों को सांस्कृतिक मंच उपलब्ध कराया गया।

सांस्कृतिक कार्यक्रम का उद्देश्य मिथिला से सरोकार रखने वाले पत्रकारों के नौनिहालों को मिथिला और मैथिली की समृद्ध संस्कृति से अवगत कराना था। साथ ही इस अवसर पर खुद जड़ से उखड़कर प्रवासी बने पत्रकारों को उनकी आदी सभ्यता और संस्कृति से साक्षात्कार कराया गया। मंच से पत्रकारों के परिवार की नन्ही कलाकारों ने अपनी प्रतिभा की भरपूर झलक पेश की।

वरिष्ठ पत्रकार प्रतिभा ज्योति व बजरंग झा की सुपुत्री प्रतिप्ता झा, गीताश्री व अजीत अंजुम की सुपुत्री अाहना सिंह, संतोष ठाकुर की सुपुत्री नंदिता के नृत्य औऱ सुजीत ठाकुर की सुपुत्री अर्चिता के गायन ने कार्यक्रम में जान फूंक दी।  दिल्ली में मैथिली नाट्यमंच तैयार करने में वर्षों से लगे युवा कलाकार प्रकाश झा की संस्था मेलौरंग ने जानदार तरीके से कार्यक्रम को बांध कर रखा। मैलोरंग के कलाकारों ने मिथिला में प्रचलित झिझिया, डोमकच और जाट जटिनी  जैसे नृत्य से उपस्थित पत्रकारों का मनमोहने का काम किया।mailorang

मैथिली के चर्चित लोकगायक हरिनाथ मिश्र, संजय झा, अमित अकेला, पूजा झा, निवेदिता एवं अन्य कलाकारों ने हजार किलोमीटर दूर दिल्ली में अपने गायन से मिथिला के गांव का परिदृश्य उपस्थित कर दिया। प्रेस क्लब ऑफ इंडिया का प्रांगण तीन घंटे से ज्यादा वक्त तक मैथिली के झुमा देने वाले गानों से बने रंगारंग माहौल में सराबोर रहा। अंत में दैनिक जागरण के वरिष्ठ पत्रकार गंगेश मिश्र की एकल प्रस्तुति ने नाट्य कला की शानदार झलक पेश की।

मैथिल पत्रकार समूह दिल्ली में बिहार और नेपाल के मिथिला क्षेत्र से संबंध रखने वाले पत्रकारों का नवगठित समूह है। समूह की शुरूआत मदन झा, संतोष ठाकुर, रहमतुल्लाह, गीताश्री, नदीम काजमी, सुशील देव आदि दो सौ पत्रकारों ने मिलकर की है। पखवाड़े भर में इसे व्हाट्स अप और फेसबुक जैसे सोशल साईट के जरिए दिल्ली में सक्रिय मिथिला क्षेत्र के पत्रकारों को एकत्रित कर बनाया गया है। समूह ने प्रेस कल्ब ऑफ इंडिया के साथ मिलकर शनिवार को पहले सांस्कृतिक कार्यक्रम का रंगारंग आयोजन किया। इसे दिल्ली सरकार की मैथिली भोजपुरी अकादमी ने प्रायोजित किया था।

प्रेस कल्ब ऑफ इंडिया में संभवत पहली बार मैथिली भाषा का कोई कार्यक्रम आयोजित हुआ। क्लब सिंधी, पंजाबी व कमांऊ और गढवाली भाषा के कार्यक्रम आयोजित कर चुका है।

मैथिली पत्रकार समूह की ओर से आयोजित इस सांस्कृतिक कार्यक्रम में दरभंगा के सांसद कीर्ति झा आजाद, मधुबनी के पूर्व सांसद शकील अहमद और भागलपुर के पूर्व सांसद सैयद शाहनवाज हुसैन ने भी संबोधित किया। कीर्ति झा आजाद ने बिहार और नेपाल के मैथिली भाषा वाले क्षेत्र को लेकर अलग मिथिला राज्य के गठन की जरूरत जाहिर की और बताया कि इस दिशा में जल्द ही पहल की जाएगी।

Related Article

सुर्खियां

Facebook पर Like करें

Featured Organization

ADD YOUR NGO

in NGOs list 

  भारतीय एनजीओ की सूची 

Go to top