पहल

  • संयुक्त राष्ट्र में दिखाई जाएगी मानव तस्करी पर आधारित फिल्म 'लव सोनिया'
  • एनजीओ, ट्रस्ट और निजी संस्थानो के लिए निबंधन कार्यालय ने किया ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन और संशोधन करने की सुविधा की शुरुआत
  • एनजीओ को साथ मिलकर एसबीआई बैंक शुरु करेगी, SBI यूथ इंडिया फेलोशिप
  • करोड़ों का ऑफर छोड़, एनजीओ से मिले 2.04 करोड़ रुपए से डेढ़ साल पहले मुंबई में एक स्टार्टअप शुरू किया, इरादा अलीबाबा जैसा प्लैटफॉर्म बनाने का
  • एनजीओ अकाउंट और बैकिंग मैनेजमेंट पर एक्सिस बैंक ने कार्यशाला आयोजित किया, साथ हीं एक्सिस फांउडेशन के बारे में भी जानकारी दी ।

तरक्की और विकास के असली सपने को पूरा करने की मंशा के साथ पत्रकार विकास राज तिवारी ने स्थापित किया समाजसेवी संस्था “फील द चेंज फांउडेशन ”

 

 

 

 

 

 

बदलाव प्रकृति का नियम है। जानते सभी हैं पर क्या समझे हैं सभी ? क्या देश का हर नागरिक हो रहे बदलावों को महसूस कर पा रहा है? क्या हर हिंदुस्तानी तक बदलाव की खुशबू पहुंच पाई है? जवाब हां में भी है और ना में भी। लेकिन भारत की तरक्की के लिए जरुरी है कि जवाब केवल और केवल हां में हो। क्योंकि सरकारें चाहे जितने भी विकास कार्य कर लें, हम चाहे मंगल पर पहुंच जाएं, दुनिया में हिंदुस्तान का डंका बज जाए, लेकिन असली तरक्की तो तब होगी जब देश के विकास की इस दौड़ में हर नागरिक का योगदान हो और उसे उसका उचित हिस्सा भी मिले। तरक्की और विकास के असली सपने को पूरा करने की मंशा के साथ आई है ‘फील द चेंज फाउंडेशन’।

फॉर द चेंज, बी द चेंज,  फील द चेंज; यही नारा है फील द चेंज फाउंडेशन का। इस संस्था की शुरुआत टीवी पत्रकार विकास राज तिवारी ने की है। विकास बताते हैं कि समाज में अच्छे बदलाव हो रहे हैं। हमारी सरकारों ने बहुत अच्छे काम किए हैं और कर भी रही है। अब ये बेहद जरुरी है कि बदलाव और विकास को गति देने में हर हिंदुस्तानी सहभागी बने। क्योंकि ये देश सभी का है, और हम सभी को मिलकर तरक्की की राह को गति देनी होगी। आम तौर पर हम अधिकारों की बात तो करते हैं लेकिन कर्तव्यों को लेकर सजग नहीं हैं। फील द चेंज देश भर में अपने कैंपेन के माध्यम से लोगों को जागरुक करेगी। खासकर युवाओं को कैसे बेहतरी की दिशा में बढ़ाया जाए इस पर भी काम करेगी। साथ ही यह फाउंडेशन सरकार की अच्छी नीतियों को जनता तक पहुंचाने और लोगों को उनका हक़ दिलाने की लड़ाई लड़ती रहेगी। यह फाउंडेशन देश भर में फील हैप्पी, बूस्टिंग इंडिया और हेल्दी हिंदुस्तान कैंपेन चला रही है। साथ ही फील द चेंज फाउंडेशन बिहार चुनाव से पहले सही चुनो बिहार बुनो कैंपेन भी चलाएगी।  विकास राज तिवारी ने बताया कि फील द चेंज के सपने को सफल बनाने के लिए उनके साथ प्रोफेशनल्स की पूरी टीम है, जिनके अंदर देश के लिए कुछ करने का माद्दा भी है और इरादा भी। पेशे से इंजीनियर, अमित कुमार पाठक फील द चेंज फाउंडेशन के प्रमोटर हैं। अमित का मानना है कि इरादे मजबूत हों तो सब कुछ संभव है और उन्होने देश में अच्छे बदलाव लाने का संकल्प लिया है। अमित छात्र जीवन से ही सामाजिक सरोकारों से जुड़े कार्य करते रहे हैं। ‘फील द चेंज‘ के बोर्ड मेंबर्स में सामाजिक कार्यकर्ता रवि कुमार तिवारी; पेशे से डॉक्टर प्राची पाठक; टीवी पत्रकार राजन झा, सुधीर कुमार वर्मा, रजनीश सिंह, अमित दत्ता और दीपक कुमार श्रीवास्तव;  इंजीनियर संजीत सिन्हा और विभोर कुमार त्रिपाठी; चार्टर्ड अकाउटेंट कुशल सिंह और आलोक सिंह; पीआर प्रोफेशनल अनुराग  श्रीवास्तव; एवं टीवी कलाकार मंजीत डागर शामिल हैं। सीनियर एडवोकेट एम. एम. कश्यप फील द चेंज के कानूनी सलाहकार हैं, जो पिछले पच्चीस सालों से अलग अलग माध्यमों  से जनता की लड़ाई लड़ते रहे है।  

मुख्य तौर पर इस संस्था का उद्देश्य देश के हर नागरिक को मुख्यधारा से जोड़ना है ताकि देश के विकास का मार्ग प्रशस्त हो सके। आपको बता दें कि फील द चेंज के फाउंडर टीवी पत्रकार विकास राज तिवारी की बचपन से ही सामाजिक कार्यो में रुचि रही है। नया सोचना और कुछ अलग करना उनकी खासियत है। विकास ने देश के कई बड़े चैनलों में काम किया है। वो फोकस टीवी और हमार टीवी के लॉचिंग टीम के सदस्य रहे हैं, और अभी चंडीगढ़ से संचालित होने वाले चैनल केबीसी न्यूज में बतौर आउटपुट एडिटर काम कर रहे हैं। इससे पहले उन्होनें इंडिया टीवी, फोकस टीवी, एमएचवन न्यूज़, जनता टीवी और सुदर्शन न्यूज़ में महत्वपूर्ण पदों पर अपनी सेवाएं दी हैं। फील द चेंज फाउंडेशन के बारे में ज्यादा जानकारी यहां www.feelthechange.in ली जा सकती है।

 

 

Related Article

सुर्खियां

Facebook पर Like करें

Featured Organization

ADD YOUR NGO

in NGOs list 

  भारतीय एनजीओ की सूची 

Go to top