एनजीओ कर्मी, मुखिया व पंचायत सदस्य पर लाखों के गबन का आरोप, प्राथमिकी दर्ज

अररिया :  सरकारी योजनाओं के लगभग 21 लाख रुपयों का गबन का आरोप धरमगंज पंचायत  के मुखिया व पंचायत सदस्य के अलावा एक एनजीओ से जुड़े दो अभिकर्ताओं  पर लगा है. इस संबंध में शुक्रवार को बीडीओ द्वारा प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. यह राशि बारहवें वित्त आयोग व बीआरजीएफ के मद की  है.  इस गबन का खुलासा सुरेश मंडल व पंचायत सचिव आस मुहम्मद अंसारी के जांच प्रतिवेदन से हुआ है, इन लोगों मुख्यमंत्री की अधिकार यात्रा दौरान एक परिवाद पत्र मुख्यमंत्री को सोंपा था.


दर्ज प्राथमिकी में महर्षि मेंहीं समाजसेवी संस्थान नामक एनजीओ के अभिकर्ता मंटू भगत, अभिकर्ता अशोक कुमार साह, तत्कालीन मुखिया रामवती देवी, वर्तमान मुखिया रुक्मिणी देवी तथा तत्कालीन पंचायत सचिव घनश्याम सिंह को अभियुक्त बनाया गया है. प्राथमिकी के अनुसार आरोपियों ने धर्मगंज पंचायत में 2009 से 2012 के दौरान साजिश के तहत मिलीभगत कर यह गबन किया. यह राशि पंचायत में ईट सोलिंग, सोलर लाइट, चापाकल व आंगनबाड़ी भवन के निर्माण कार्य के लिए था. 

Related Article

सुर्खियां

Facebook पर Like करें

ADD YOUR NGO

in NGOs list 

  भारतीय एनजीओ की सूची 

Go to top