Filter
  • मिड डे मील घोटाले के आरोपी ने विशेष सीबीआई कोर्ट में पहुंचकर सरेंडर किया।

    मैनपुरी जिले में मध्यान्ह भोजन योजना में 7 करोड 63 लाख 48 हजार 521 रूपये 90 पैसे के घोटाले को लेकर 24 अप्रैल 2011 को एफआईआर दर्ज कराई गई थी। इस घोटाले के आरोपियों में से एक आरोपी तत्कालीन जिलाधिकारी दिनेश चंद शुक्ला ने गुरुवार को विशेष सीबीआई कोर्ट में पहुंचकर सरेंडर कर दिया। शुक्ला के वकील ने जमानत के लिए कोर्ट में अर्जी भी दाखिल की लोकिन सुनवाई के बाद कोर्ट ने अर्जी खारिज कर दी और उन्हें 14 दिन के लिए जूडिशल कस्टडी में जेल भेज दिया। गौरतलब है कि इस घोटाले में सीबीआई ने दिनेश चंद शुक्ला को आरोपी बनाया था। साथ ही सीबीआई ने कोर्ट में चार्जशीट भी पेश कर दी थी, लेकिन शुक्ला कोर्ट में हाजिर नहीं हो रहे थे। वहीं सीबीआई शुक्ला की गिरफ्तारी के लिए लगातार दबाव बना रही थी।

  • एनजीओ और एलआईसी द्वारा ठगी को अब आंगनबाड़ी सहायिकाएं लोकसभा चुनाव में मुद्दा बनाएंगी।

    रोहतक : आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका यूनियन ने बुधवार को उपायुक्त और क्षेत्रीय बीमा अधिकारी के कार्यालयों पर जोरदार प्रदर्शन किया। यूनियन की सदस्यों ने ज्ञापन देकर बीमा धारकों को उनका जमा पैसा वापस कराने की मांग की और आरोपी कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की भी मांग की है। सदस्यों ने कहा कि अगर जल्द ही उनकी मांग पूरी नहीं की गई तो वे लोकसभा चुनाव में इस मामले को मुद्दा बनाकर जनता के सामने लाया जाएगा।

  • मिड-डे मील में जहर गिरने से हड़कंप

    दरभंगा के बहादुरपुर प्रखंड क्षेत्र की तारालाही पंचायत स्थित एक मध्य विद्यालय में 7 मार्च को बच्चों को परोसे जाने वाले भोजन में जहरीला पदार्थ गिरने की खबर मिलते हीं हड़कंप मच गया। खाना बनने वाली रसोईया मुन्नी और बेटे में सुबह किसी बात को लेकर लड़ाई-झगड़ा हुआ था। मुन्नी विद्यालय पहुंचकर भोजन बनाने लगी, कुछ देर बाद उसका पुत्र एक बोतल लेकर विद्यालय पहुंचा। वह बोतल में भरे जहर को पीने लगा, जब उसकी मां उसके हाथ से बोतल छीनने की कोशिश की तो वह भोजन के बर्तन में जा गिरा। प्रधानाध्यापक को इसकी खबर मिलते हीं सारे भोजन को गड्ढे में फेंकवा दिया गया। जहरीला पदार्थ डालने वाले रसोईया पुत्र को डीएमसीएच में भर्ती कराया गया है, जहां उसका इलाज चल रहा है। रसोइया के पुत्र के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई।

  • चुनाव में नशा और नोट बांटने वालों को पड़ेंगे बेलनः एनजीओ प्रगतिशील गठबंधन के "बेलन ब्रिगेड" का एलान

    लुधियाना: महिलाओं ने अपने हाथों में बेलन उठाकर कसम खाई है कि ऐसे नेताओँ की बेलन से खबर ली जाएगी जो इस बार शराब, ड्रग्स और पैसा बांटकर वोट खरीदने जुगत लगाएंगे. सत्तर समाजसेवी संगठनों के संयुक्त संगठन एनजीओ प्रगतिशील गठबंधन ने महिलाओं की "बेलन ब्रिगेड" बनाकर पूरे पंजाब को नशामुक्त बनाने का संकल्प लिया है.

     

  • अनुभवहीन एनजीओ को काम दिए जाने पर जांच की मांग

    रांची : पार्षदों ने शहर की साफ सफाई के लिए एनजीओ को काम सौंपे जाने में हुई गड़बड़ी को लेकर स्वतंत्र एजेंसी से जांच कराने की मांग कर रहे हैं। शहर की साफ सफाई के लिए सात एनजीओ का चयन किया गया था, इनमें से चार एनजीओ तो ऐसे थे जिनके पास साफ- सफाई का कोई अनुभव नहीं था। परंतु फिर भी इन एनजीओ को काम सौंपे जाने की पूरी तैयारी कर ली गयी। जब इन एनजीओ का काम का कोई अनुभव था ही नहीं तो फिर इनका चयन कैसे हुआ। इसकी जांच स्वतंत्र एजेंसी से करायी जाये। उक्त बातें नगर निगम स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में पार्षदों ने कहा।

Related Article

सुर्खियां

Facebook पर Like करें

विज्ञापन

ADD YOUR NGO

in NGOs list 

  भारतीय एनजीओ की सूची 

Go to top